Books published by Hind Pocket Books at best prices | Best of Hind Pocket Books (236 books)

Becoming (Hindi): Mera Jeevan Safar

Becoming (Hindi): Mera Jeevan Safar

In a life filled with meaning and accomplishment, Michelle Obama has emerged as one of the most iconic and compelling women of our era. As First Lady of the United States of America-the first African-American to serve in that role-she helped create the most welcoming and inclusive White House in history, while also establishing herself as a powerful advocate for women and girls in the U.S. and around the world, dramatically changing the ways that families pursue healthier and more active lives, and standing with her husband as he led America through some of its most harrowing moments. Along the way, she showed us a few dance moves, crushed Carpool Karaoke, and raised two down-to-earth daughters under an unforgiving media glare.

In her memoir, a work of deep reflection and mesmerizing storytelling, Michelle Obama invites readers into her world, chronicling the experiences that have shaped her-from her childhood on the South Side of Chicago to her years as an executive balancing the demands of motherhood and work, to her time spent at the world's most famous address. With unerring honesty and lively wit, she describes her triumphs and her disappointments, both public and private, telling her full story as she has lived it-in her own words and on her own terms. Warm, wise, and revelatory, Becoming is the deeply personal reckoning of a woman of soul and substance who has steadily defied expectations-and whose story inspires us to do the same.

Rs. 291.27

Jaa Ke Bairi Sanmukh Jeevay

Jaa Ke Bairi Sanmukh Jeevay

'I am a khalsa of Waheguru. I am the Guru's lion. I'll thunder like the clouds and in the same booming voice, I will unleash havoc on my enemies. My enemies will tremble at my challenge. My scream will rain like cinders upon them.'

Jaake Bairi Sanmukh Jeevay,
Taake Jeevan Ko Dhikkar

This electrifying novel will quake the gentle human sensibilities. The 44th mystery in the Vimal series this is a brand-new gem from the stellar mystery author, Surendra Mohan Pathak.

Bhojan Ke Samay Hath Batana

Bhojan Ke Samay Hath Batana

Bhojan Ke Samay Hath Batana

Shishtachar

Shishtachar

Shishtachar

Saaf Suthara

Saaf Suthara

Saaf Suthara

Har Samay Khush Rahein

Har Samay Khush Rahein

Har Samay Khush Rahein

Hypnotism: Sammohan Vidya ki Pramanik Evam Prayogik Jankari Dene Wali Pustak

Hypnotism: Sammohan Vidya ki Pramanik Evam Prayogik Jankari Dene Wali Pustak

हिप्नोटिज़्म प्राचीन एवं प्रामाणिक विज्ञान है। प्राचीन काल में इस विद्या का उपयोग मानसिक रोगों से पीडि़त लोगों के कुशल उपचार के लिए किया जाता था। आज के व्यस्त जीवन में अत्यधिक काम के बोझ के तले दबे लोगों में चिंता एवं तनाव होना एक आम बीमारी है, जिससे छुटकारा हिप्नोटिज़्म द्वारा आसानी से पाया जा सकता है। इतना ही नहीं इस विद्या द्वारा कई अन्य बरसों पुरानी बीमारियों और पीड़ा से भी मुक्ति संभव है। चिकित्सा के अलावा सम्मोहन कला के निम्न लाभ भी हैं - • मनोविश्लेषण में सहायक है यह कला • आप पहुंचा सकते हैं परिचितों को लाभ • उद्यमियों के लिए भी उपयोगी है यह पद्धति • अध्यात्म प्रेमियों के लिए वरदान है सम्मोहन कला। सिद्धान्त, नियम और प्रयोगों से भरपूर भारत में इस विषय की एकमात्र प्रामाणिक एवं प्रायोगिक पुस्तक विलियम जे. औस्बी ने हिप्नोटिज़्म पर गहन अनुसंधान किया है। इस विषय के दुर्लभ सिद्धान्तों की खोज के लिए उन्होंने भारत समेत विश्व के अनेकों देशों का भ्रमण किया और ऋषियों, योगियों एवं साधु - संतों से सम्मोहन विज्ञान के अनेक सूक्ष्म सूत्रों का ज्ञान प्राप्त कर विश्वभर में हिप्नोटिज़्म का प्रचार - प्रसार किया।

Maharishi Valmiki: Adi Kavi

Maharishi Valmiki: Adi Kavi

आदि कवि वाल्मीकि भारत के प्राचीन महर्षि हैं। वाल्मीकि का पहला नाम रत्नाकर था और वह ग़लत ढंग से कमाए गए धन से अपने घर का पालन-पोषण करते थे। एक घटना ने उनके जीवन को पूरी तरह से बदल दिया। और इन्होंने संस्कृत के प्रथम महाकाव्य की रचना की, जो रामायण के नाम से प्रसिद्ध है। श्रीराम द्वारा त्याग देने के बाद सीता जी वाल्मीकि के आश्रम में रहीं और यहीं इनके दोनों पुत्रों, लव और कुश का जन्म हुआ। लव-कुश को आश्रम में ही शिक्षा के साथ-साथ अस्त्र-शस्त्र का ज्ञान मिला। इस पुस्तक में इन्हीं महान ऋषि वाल्मीकि की पावन गाथासरल शब्दों में लिखी गई है, जिससे बच्चों एवं किशोरों को प्रेरणा मिलेगी। आकर्षक चित्रों के साथ-साथ पुस्तक के अंत में प्रश्नोत्तरी भी दी गई है, ताकि पढ़ने के बाद अपनी परीक्षा आप स्वयं ले सकें।

Nepolean Bonapart: Bhagya Devi Ka Putra

Nepolean Bonapart: Bhagya Devi Ka Putra

एक माँ अपने पुत्र के लिए दुनिया का नक्शा खरीदकर लाई, ताकि वह दुनिया को जान सके। बालक ने उस नक्शे के अनेक देशों को लाल रंग से रंग दिया तो माँ ने पूछा - “यह क्या किया, नक्शा खराब कर दिया?” जानते हो उस बालक ने क्या कहा! उस बालक ने कहा - “माँ, मैंने नक्शा खराब नहीं किया है। जिन देशों पर मैंने लाल निशान लगाए हैं, मैं उन देशों को जीतकर एक दिन सम्राट बनूँगा। कालांतर में वही बालक महान सम्राट नेपोलियन बोनापार्ट के नाम से दुनिया में प्रसिद्ध हुआ। इस पुस्तक में उन्हीं महान सम्राट नेपोलियन की सचित्र प्रेरक जीवनी दी गई है, जो चलचित्र की भाँति इतिहास को पुनः जीवित तो करेगी ही साथ ही आपकी विचारधारा को भी बदलकर रखा देगी और निष्कर्ष निकलेगा - सम्राट बनाये नहीं जाते, बल्कि स्वयं के कामों से ख़ुद बनते हैं।

Stephen Hawking: Ek Mahan Vaigynanik – Drindh Sankalpee Jeeniyas Kaaॅsmolojist Maithemetishiyan Cambridge Mein Professor

Stephen Hawking: Ek Mahan Vaigynanik – Drindh Sankalpee Jeeniyas Kaaॅsmolojist Maithemetishiyan Cambridge Mein Professor

दृढ़ संकल्पी जीनियस काॅस्मोलोजिस्ट मैथेमेटिशियन कैंब्रिज में प्रोफ़ेसर जीवन ऊर्जा का दूसरा नाम - न्यूटन और आइंस्टीन के बराबर खड़े, दृढ़ संकल्पी जीनियस, Hope and Keep Busy का महामंत्र देने वाले, काॅस्मोलोजिस्ट, मैथेमेटिशियन, कैंब्रिज में ल्यूकेशियन प्रोफेसर, अंतरिक्ष और ब्लैक होल से जिन्होंने पर्दा उठाया, आकाश में काले गड्ढ़े ढूंढे, अंतरिक्ष के अस्तित्व पर ही प्रश्नचिन्ह लगा दिए, 12 मानद उपाधियाँ, लगभग इतने ही पुरस्कार व सम्मान। बिक्री के रेकाॅर्ड स्थापित करने वाली पुस्तक Brief History of Time के लेखक, ero Gravity फ़्लाइट पर अंतरिक्ष की यात्रा करने वाले महान वैज्ञानिक स्टीफ़न हाॅकिग की प्रेरक, मार्मिक और संघर्ष - गाथा। चालीस वर्षों से समूचे शरीर से विकलांग, पर सत्तर वर्ष की आयु में सक्रिय एवं जीवंत मस्तिष्क के साथ आज भी कैंब्रिज में रिसर्च डायरेक्टर के पद पर कार्यरत। इस महान वैज्ञानिक से रू - ब - रू होते हुए आप नई ऊर्जा से भर जाएंगे।

Bill Gates Ka Chamatkar: Microsoft

Bill Gates Ka Chamatkar: Microsoft

“दुनिया को बदल डालो या घर बैठो!” का संदेश देने वाले विलियम हेनरी ‘बिल’ गेट्स अमेरिका के विश्वप्रसिद्ध बिजनेस-मैगनेट, लोकोपकारक, निवेशक, कम्प्यूटर-प्रोग्रामर और अन्वेषक हैं। 28 अक्तूबर 1955 को जन्मे बिल गेट्स अपनी विश्वव्यापी सफलता के बल पर दुनियाभर में ‘बिलियन गेट्स’ के नाम से भी मशहूर हैं। पाॅल एलेन के साथ मिलकर दुनिया की दिग्गज साॅफ्टवेयर कंपनी माइक्रोसाॅफ्ट की स्थापना करने वाले बिल गेट्स ने कम्प्यूटर की दुनिया को बदलने का सपना देखा और उसे साकार कर दिखाया। बिल गेट्स मानते थे कि पर्सनल कम्प्यूटर हर टेबल, हर घर और हर लिविंग-रूम में होना चाहिए और फिर देखिए, यह हमारे काम के तरीकों को किस तरह बदल देता है। आज वे पर्सनल कम्प्यूटर क्रांति के जनक माने जाते हैं। यह पुस्तक उन्हीं बिल गेट्स की प्रेरणादायक जीवनी है। यह पुस्तक पाठकों, विशेषकर युवाओं का जीवन बदलकर रख देगी, क्योंकि इसे पढ़कर वे जानेंगे कि हमारे लिए सर्दव कोई मार्ग तैयार नहीं रहता, अपना मार्ग स्वयं बनाना पड़ता है। कैसे, यह भी इस पुस्तक को पढकर जान जाएँगे।

Steve Jobs: Apple Ko Chahe Pyar Karo Ya Nahi, Lekin Itna To Manana Padega ki Steve Engineering Brain Aur Artist Aankhon Wale Lajawab Shakhs The

Steve Jobs: Apple Ko Chahe Pyar Karo Ya Nahi, Lekin Itna To Manana Padega ki Steve Engineering Brain Aur Artist Aankhon Wale Lajawab Shakhs The

एप्पल को चाहे प्यार करो या नहीं, लेकिन इतना तो मानना पड़ेगा कि स्टीव इंजीनियरब्रेन और आर्टिस्ट आंखों वाले लाजवाब शख़्स थे - विपुल विनोद कम्प्यूटर युग के माइकल एंजलो, जिसने उन जीनियस लोगों को वह सब दे डाला, जो एजूकेशन के लिए ज़रूरी था। - नारायण मूर्ति स्टीव ऐसे लाजवाब दूरदृष्टा थे, जिन्होंने डिजिटल युग को रेखांकित करने वाले प्रोडक्ट दिए। - के. चिदानंद कुमार वह आज की पीढ़ी के महान सी.ई.ओ. थे। - रूपर्ट मर्डोक इस युग के एक महानतम आइकाॅन। - रतन टाटा मैं उन भाग्यशालियों में हूं, जिन्हें स्टीव के साथ काम करने का अवसर मिला। - बिल गेट्स स्टीव जाॅब्स सचमुच iman थे, जिन्होंने उद्योग को बदल दिया, बिज़नेस की नई परिभाषा लिख दी और टेक्नोलाॅजी के साथ आर्ट और म्यूजि़क को भी जोड़ दिया। आज दुनिया - भर के लोग उनकी तुलना थाॅमस एडीसन, वाल्ट डिज़्नी, लियोनार्दो द विंची से करते हैं। स्टीव जाॅब्स एक विद्रोेही दूरदृष्टा, बेहद जुनूनी, क्रियेटिव जीनियस और सफल लीडर थे। थिंक डिफ़रेंट, चेंज द वल्ड, नो कम्प्रोमाइज़ जैसे आदर्श वाक्यों के साथ लोह स्तंभ की तरह हमेशा खड़े रहे और स्टीव ने लोगों को अपने iProduct का दीवाना बना दिया।

Ravan Ko Gussa Kyun Aata Hai

Ravan Ko Gussa Kyun Aata Hai

देश के हालात इतने बुरे हो गए हैं कि मर्यादा पुरुषोत्तम राम से लेकर भगवान बुद्ध, कालिदास, शाहजहां, महात्मा गांधी, चचा गालिब और प्रेमचन्द भी हक्के - बक्के हैं। उन्हें अब कुछ भी समझ में नहीं आ रहा है। अब तो रावण को भी गुस्सा आने लगा है। इस पुस्तक में राजनीति, बाज़ार, मीडिया और भूमंडलीकरण से उत्पन्न विद्रूप स्थितियों को व्यंग्य के माध्यम से कहने की कोशिश है, जो आज के दौर की उलटबांसी हो गई है। यहां पढि़ए, गांधी जी चैनल को क्या इंटरव्यू दे रहे हैं? गालिब इलेक्शन पर क्या बोल रहे हैं? महंगाई के बारे में कालिदास क्या कह रहे हैं? घडि़याल भारतीय राजनीति पर क्या टिप्पणी कर रहा है? बाघ ‘लव’ में असफल होकर क्यों आत्महत्या कर रहा है? हनुमान की व्यथा क्या है और भूमंडलीकरण के दौर में कुत्ते का दर्द क्या है? 9 दिसंबर, 1960 को पटना में जन्मे एवं रांची तथा दिल्ली से शिक्षा ग्रहण करने वाले विमल कुमार ‘चोर पुराण’ और ‘चांद/आसमान.काॅम’ के चर्चित लेखक हैं। वह एक राष्ट्रीय समाचार एजेंसी में पिछले पच्चीस सालों से वरिष्ठ पत्राकार हैं और संसद की भी रिपोर्टिंग करते रहे हैं। उनके चार कविता संग्रह भी छप चुके हैं। उनकी रचनाएं प्रतिष्ठित पत्रा - पत्रिकाओं में निरंतर छपती रही हैं। उन्हें कई पुरस्कार भी मिले हैं तथा अनेक रचनाओं के अंगे्रज़ी एवं विभिन्न भारतीय भाषाओं में अनुवाद हो चुके हैं। विमल कुमार ने अपनी व्यंग्य - कथाओं के माध्यम से अपनी एक अलग पहचान बनाई है।

Treta: Priyadarshini Sammaan Se Vibhushit Raam-Kathaa Kee Anoothee Prastuti Karane Wala 21vee Sadi Ka Pehla Mahaakaavya

Treta: Priyadarshini Sammaan Se Vibhushit Raam-Kathaa Kee Anoothee Prastuti Karane Wala 21vee Sadi Ka Pehla Mahaakaavya

हिंदी के शीर्ष आलोचक प्रो. नित्यानंद तिवारी ने कुछ समय पूर्व उद्भ्रांत के कवित्व पर टिप्पणी करते हुए महाप्राण निराला को उद्भ्रांत का आदर्श बताया था। स्वभावतः उद्भ्रांत निराला की परंपरा के सिद्धहस्त कवि हैं। वे निराला की परंपरा के वाहक ही नहीं, उसके पुरस्कर्ता यानी उसे आगे बढ़ाने वाले भी हैं। निराला के बाद उद्भ्रांत ही पहले और अकेले कवि हैं, जिन्होंने साहित्य की सभी विधाओं - कविता, कहानी, उपन्यास, निबंध, आलोचना, संस्मरण, बाल-साहित्य, अनुवाद आदि और सभी काव्य-रूपों - गीत, नवगीत, ग़ज़ल, मुक्तक, खंड-काव्य आदि में उत्कृष्ट और विपुल सृजन किया है। इतना ही नहीं, अपने महान पुरखे से भी एक कदम आगे बढ़कर उन्होंने काव्य-नाटक के अतिरिक्त कई बेहतरीन महाकाव्य और प्रबंध-काव्य भी लिखे हैं। निराला की श्रेष्ठ कविता ‘राम की शक्ति-पूजा’ से उद्भ्रांत की ‘रुद्रावतार’ कविता की तुलना यों ही नहीं होती, जो दर्जनों भाषाओं में अनूदित होकर और आकाशवाणी तथा दूरदर्शन के अनेक केंद्रों से आधा दर्जन संगीत-रूपकों और गीति-नाट्यों का आधार बनकर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रतिष्ठा अर्जित कर चुकी है। निस्संदेह उद्भ्रांत निराला के बाद रूप और प्रवृत्ति दोनों स्तरों पर उनका प्रतिनिधित्व करने वाले अकेले कवि हैं, जिन्होंने विपुलता की दृष्टि से ही नहीं, उत्कृष्टता की दृष्टि से भी अपने सृजन-कार्य का लोहा सर्वश्रेष्ठ आलोचकों से मनवाया है और हिंदी-कविता के व्यापक पाठक-वर्ग का ध्यान निरंतर अपनी ओर आकर्षित किया है।

Jahn Jahn Charan Pare Gautam Ke

Jahn Jahn Charan Pare Gautam Ke

Philosophical study on Gautam Buddh

Being Peace

Being Peace

"Every day we do things, we are things that have to do with peace. If we are aware of our lifestyle, our way of consuming, our way of looking at things, we will know how to make peace right in the moment we are alive. "If we are peaceful, if we are happy, we can smile and everyone in our family, our entire society, will benefit from our peace."

Sir Issac Newton: Ek Vaigynanik Sant - Mahan Ganitagya, Bhautik Vaigynanik, Jyotish Evam Darshanik

Sir Issac Newton: Ek Vaigynanik Sant - Mahan Ganitagya, Bhautik Vaigynanik, Jyotish Evam Darshanik

महान गणितज्ञ, भौतिक वैज्ञानिक, ज्योतिष एवं दार्शनिक करोड़ो सालों से लोग सुनते और देखते आए हैं कि ऊपर से गिरने वाली वस्तुएँ पृथ्वी पर ही आकर टिकती हैं, लेकिन इस पर कभी किसी ने कोई प्रश्न नहीं उठाया कि ऐसा क्यों होता है, परंतु जब न्यूटन के सामने पेड़ से टूटकर सेब भूमि पर गिरा, तो उस सेब ने न्यूटन के मस्तिष्क को ऐसा झकझोरा कि उनके ज्ञान चक्षु खुल गए और उन्होंने मात्रा 24 साल की उम्र में ही सारे आकाशीय पिंडों की गति का नियम खोज डाला। इस महान वैज्ञानिक को प्रकृति से अति प्रेम था। उनका जीवन किसी साधु - संत से कम नहीं था, इसीलिए उन्हें एक वैज्ञानिक संत कहा गया। वे प्रकृति के रहस्यों को खोलने - खंगालाने में ऐसे जुटे कि न केवल भौतिक विज्ञान वरन् रसायन, खगोल, भूगोल और गणित के क्षेत्र में भी उन्होंने अनेक अनसुलझी गुत्थियों को सुलझाया। तो आइए पढ़ते हैं, इस महान वैज्ञानिक संत की प्रेरक जीवन - गाथा।

Narendra Modi Ka Rajnitik Safar: Ek Vikas Purush ki Shoony Se Shikhar Par Pahuchane ki Sachchi Dastan

Narendra Modi Ka Rajnitik Safar: Ek Vikas Purush ki Shoony Se Shikhar Par Pahuchane ki Sachchi Dastan

एक विकास पुरुष की शून्य से शिखर पर पहुँचने की सच्ची दास्तान मुख्यमंत्री से प्रधनमंत्री तक नरेन्द्र मोदी जैसा बोलते हैं, वैसा ही करते और निभाते भी हैं। - अमिताभ बच्चन नरेन्द्र मोदी सारे देश में एक बेहद लोकप्रिय नेता हैं। - राजनाथ सिंह नरेन्द्र मोदी नई योजनाओं को विकास का माध्यम बनाते हैं। - लालकृष्ण आडवाणी नरेन्द्र मोदी धूप और धूल में अपने लोगों के बीच रहकर शासन नहीं समाज सेवा करते हैं। - सुषमा स्वराज • बिजली से 24 घंटे चमकते रहतेे हैं गुजरात के सभी गाँव! • गुजरात में बेटियों की संख्या प्रति हजार बालकों पर 883 के स्थान पर बढ़कर 918 हो गई हैद। • जब देशभर में वाटर लेवल गिर रहा है, लेकिन गुजरात में बढ़ा है। • गुजरात का दूध दिल्ली और सिंगापुर तक के नौनिहाल पीकर बड़े होते हैं। • गुजरात की सब्जियाँ यूरोप तक की रसोइयों में पकती हैंद। आखिर नरेन्द्र मोदी ने गुजरात के विकास की क्या योजनाएँ बनाई, जिसने राज्य को अभी से 2050 में ले जाकर खड़ा कर दिया है। प्रस्तुत पुस्तक में मोदी की प्रेरक जीवनी, गुजरात की विकास योजनाओं एवं उनके संपूर्ण राजनीतिक सफ़र को गहन अनुसंधान के बाद प्रभावशाली भाषा में प्रस्तुत किया गया है। तेजपाल सिंह धामा मूल रूप से पत्रकार हैं। अहमदाबाद से प्रकाशित हिंदी दैनिक ‘गुजरात वैभव’ में वरिष्ठ उपसंपादक के रूप में सेवाएँ देते समय इन्होंने नरेन्द्र मोदी की राजनीतिक सफ़र के दौरान गुजरात के विकास को अपनी आँखों से होते देखा है। दर्जनों पुस्तकों के लेखक धामा जी को अनेक साहित्यिक एवं सामाजिक पुरस्कारों से नवाजा जा चुका है।

Mahakumbh: Aashtha Ka Sangam

Mahakumbh: Aashtha Ka Sangam

कुम्भ मेला अमृत स्नान और अमृतपान की बेला! इसी समय गंगा की पावन धारा में अमृत का सतत प्रवाह होता है और कुम्भ स्नान का संयोग बनता है। ज्योतिष के अनुसार 535 साल बाद ग्रहों के अति कल्याणकारी योग बने हैं। इस कारण प्रयाग महाकुम्भ 2013 का विशेष महत्व है। गंगा, यमुना और सरस्वती के पावन संगम पर इस बार महाकुम्भ के दौरान स्नान करने से अकाल मृत्यु का भय जाता रहेगा। बदलती राशियां बढ़ाएंगी अमृत की बूँदें। तीन माह तक गंगा में स्नान करने का महत्व बना रहेगा। इस योग के कारण गंगा का पानी कई सौ गुना पवित्र हो जाएगा। वैज्ञानिकों के अनुसार भी कुम्भ और बृहस्पति के योग से धरती का जल पहले की अपेक्षा और ज़्यादा स्वच्छ हो जाता है। पचपन दिनों के इस आयोजन में अनुमान है कि देश - विदेश से साढ़े छह करोड़ लोग इसमें शामिल होंगे, क्यांेकि कुम्भ भारतीय जनमानस की पर्व चेतना की विराटता का द्योतक है। प्रस्तुत पुस्तक में कुम्भ का प्रामाणिक इतिहास, परम्पराएं और तथ्यांे को दिया गया है, ताकि श्राद्धलुओं के लिए यह ग्रंथ उपयोगी साबित हो।

Mahakumbh – Tourist Guide: Ilahabaad Evam Vaaranasi Ka Sampoorn Darshan

Mahakumbh – Tourist Guide: Ilahabaad Evam Vaaranasi Ka Sampoorn Darshan

गंगा यमुना और सरस्वती के पावन संगम पर महाकुम्भ सदियों से होता आया है, जिसमें लाखों श्राद्धलु भाग लेते हैं। प्रस्तुत गाइड में इलाहाबाद संगम के अलावा इस शहर एवं इसके निकटवर्ती एक अन्य तीर्थस्थली वाराणसी के तमाम धार्मिक, ऐतिहासिक एवं शैक्षणिक महत्व के दर्शनीय स्थलों को सचित्र दिया गया है, जिन्हें देश - विदेश से लाखों लोग हर दिन देखने आते हैं। इसी के साथ देशभर के प्रमुख शहरों से इलाहाबाद एवं वाराणसी पहुंचने वाली ट्रेनें, बसें, उड़ानों इत्यादि की समय - सारणी एवं होटलों, अस्पतालों, जिला प्रशासन, आपात सेवाओं इत्यादि के पते एवं फोन नंबरों को भी इसमें दिया गया है, ताकि पर्यटक या तीर्थयात्री को इलाहाबाद एवं वाराणसी की पर्यटन संबंधी जानकारी इस पुस्तक में मिल जाए। यह गाइड पर्यटकों एवं तीर्थयात्रियों के लिए निश्चय ही एक मार्गदर्शिका की तरह साबित होगी।

Books published by Hind Pocket Books at best prices | Best of Hind Pocket Books (236 books)

Books published by Hind Pocket Books at best prices | Best of Hind Pocket Books (236 books) Price
Becoming (Hindi): Mera Jeevan Safar Rs. 291.27
Jaa Ke Bairi Sanmukh Jeevay Rs. 131.0
Bhojan Ke Samay Hath Batana Rs. 40.0
Shishtachar Rs. 40.0
Dusaron ki Madad Karein Rs. 40.0
Saaf Suthara Rs. 124.0
Har Samay Khush Rahein Rs. 92.0
Dusaron Ki Madad Karein Aur Dusare Bhi Apki Madad Kareinge Rs. 92.0
Increase Your Word Power Rs. 129.0
Hypnotism: Sammohan Vidya ki Pramanik Evam Prayogik Jankari Dene Wali Pustak
Maharishi Valmiki: Adi Kavi Rs. 56.0
Nepolean Bonapart: Bhagya Devi Ka Putra Rs. 135.0
Stephen Hawking: Ek Mahan Vaigynanik – Drindh Sankalpee Jeeniyas Kaaॅsmolojist Maithemetishiyan Cambridge Mein Professor Rs. 135.0
Bill Gates Ka Chamatkar: Microsoft Rs. 120.0
Steve Jobs: Apple Ko Chahe Pyar Karo Ya Nahi, Lekin Itna To Manana Padega ki Steve Engineering Brain Aur Artist Aankhon Wale Lajawab Shakhs The Rs. 64.39
Ravan Ko Gussa Kyun Aata Hai Rs. 72.0
Treta: Priyadarshini Sammaan Se Vibhushit Raam-Kathaa Kee Anoothee Prastuti Karane Wala 21vee Sadi Ka Pehla Mahaakaavya Rs. 188.0
Jahn Jahn Charan Pare Gautam Ke Rs. 256.0
Jaham - Jaham Charan Pare Gautam Ke: Buddha Ke Charan - Chinahon Par Tirtha - Yatra Rs. 359.0
Being Peace Rs. 115.0
Sir Issac Newton: Ek Vaigynanik Sant - Mahan Ganitagya, Bhautik Vaigynanik, Jyotish Evam Darshanik Rs. 135.0
Narendra Modi Ka Rajnitik Safar: Ek Vikas Purush ki Shoony Se Shikhar Par Pahuchane ki Sachchi Dastan Rs. 105.0
Mahakumbh: Aashtha Ka Sangam Rs. 90.0
Mahakumbh – Tourist Guide: Ilahabaad Evam Vaaranasi Ka Sampoorn Darshan Rs. 54.0

Bot